Uncategorized

Shayari Sangrah

http://ift.tt/2qtDOQg

न वो आ सके न हम कभी जा सके,
न दर्द दिल का किसी को सुना सके,
बस बैठे है यादों में उनकी,
न उन्होंने याद किया और न हम उनको भुला सके !!

=======x=======x========

हम सिमटते गए उनमें और वो हमें भुलाते गए, हम मरते गए उनकी बेरुखी से, और वो हमें आजमाते गए, सोचा की मेरी बेपनाह मोहब्बत देखकर सीख लेंगी वफाएँ करना, पर हम रोते गए और वो हमें खुशी खुशी रुलाते गए..!

http://ift.tt/2qZ8EUj

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s