Uncategorized

Unke Honthon

http://ift.tt/2znmfWD

उन के होंठो को देखा तब एक बात उठी ज़हन में,

वो लफ्ज़ कितने नशीले होंगे जो इनसे हो कर गुज़रते है..!

http://ift.tt/2zn9ds7

Advertisements
Uncategorized

अच्छी लगती हो

http://ift.tt/2hPuaF8

ik baat kahoon Ager sunti ho?
Tum Mujhko achi lagti ho..!!
Kuch chanchal si. kuch chup chup si.
Kuch pagal pagal lagti ho..!!
Hain chahney waaley aur bohut.
Par tum main hai ik baat bohut..!!
Tum apni apni lagti ho.
ik baat kahoon Agar sunti ho..!!
Tum Mujhko achi lagti ho.
Yeh baat baat pay kho jaana..!!
Kuch kehte kehte ruk jaana
Yeh kis uljhan main rehti ho..??
Kiya baat hai humse keh daalo.
ik baat kahoon Agar sunti ho..!!
Tum Mujhko Achi Lagti Ho…!!!

http://ift.tt/2yyTPKo

Uncategorized

Good Morning

http://ift.tt/2g3XZkZ

*वृद्धाश्रम की दीवार पर एक सुंदर वाक्य लिखा हुआ था..✍🏻*

*नीचे गिरे हुये सूखे पत्तों 🍂 पर ज़रा आहिस्ते से पैर रखते हुए गुज़रें….*

*क्योंकि कड़क धूप में आप भी कभी उनकी🌳 छाँव के नीचे खड़े हुए थे….*

*अर्थ समझ गए हों तो ख्याल रखें..
🙏good morning 🙏

http://ift.tt/2ybiPcL

Uncategorized

Good Morning

http://ift.tt/2g3XZkZ

*वृद्धाश्रम की दीवार पर एक सुंदर वाक्य लिखा हुआ था..✍🏻*

*नीचे गिरे हुये सूखे पत्तों 🍂 पर ज़रा आहिस्ते से पैर रखते हुए गुज़रें….*

*क्योंकि कड़क धूप में आप भी कभी उनकी🌳 छाँव के नीचे खड़े हुए थे….*

*अर्थ समझ गए हों तो ख्याल रखें..
🙏good morning 🙏

http://ift.tt/2ybiPcL

Uncategorized

Good Morning

http://ift.tt/2g3XZkZ

*वृद्धाश्रम की दीवार पर एक सुंदर वाक्य लिखा हुआ था..✍🏻*

*नीचे गिरे हुये सूखे पत्तों 🍂 पर ज़रा आहिस्ते से पैर रखते हुए गुज़रें….*

*क्योंकि कड़क धूप में आप भी कभी उनकी🌳 छाँव के नीचे खड़े हुए थे….*

*अर्थ समझ गए हों तो ख्याल रखें..
🙏good morning 🙏

http://ift.tt/2ybiPcL

Uncategorized

एक बात पूछूं

http://ift.tt/2x7kujG

एक  बात  पूछूँ
तेरी  आँखों  में  मैं  हूँ
तेरी  खामोशियों  में  मैं  हूँ
तेरे  दिल  में  भी  मैं  ही  हूँ ,
फिर  तेरे  लबों  पे  मेरा  नाम  नहीं ……

http://ift.tt/2fDkbBY